Ticker

6/recent/ticker-posts

What is Difference between Open Belt Drive and Crossed Belt Drive in Hindi।

Open बेल्ट ड्राइव और Crossed या closed बेल्ट ड्राइव के बीच का अंतर हिंदी में।


Mechanical Power transmission का उपयोग ड्राइवर शाफ़्ट से ड्रिवन शाफ्ट तक पॉवर को transmit करने के लिए किया जाता है। Belt drive एक mechanical drive में से एक है, जिसमें अन्य ड्राइव जैसे कि Gear drive, Chain drive और Rope Drive का भी समावेश किया जाता है। जिसका उपयोग motion, Power और Torque को एक शाफ्ट से दूसरी शाफ़्ट में transmit करना है।

सबसे पहले पुली को Shaft पर मजबूती से फिट किया जाता है। उसके बाद एक Endless belt को पुली की Surface पर लपेटा जाता है। और बेल्ट को Sleep होने से बचाने के लिए belt को tension के साथ फीट किया जाता है। और जब Driving shaft को घुमाया जाता है तब belt की मदद से driven shaft भी घूमती है और यह सब बेल्ट और पुली के बीच के Frictional force के कारण होता है। और  इस तरह belt की मदद से पॉवर का ट्रांसमिशन एक शाफ़्ट से दूसरी शाफ़्ट में किया जाता है।


जब बेल्ट बिना किसी क्रॉसिंग के एक pulley की surface से दूसरी पुली की surface तक जाता है, तब उसे Open Belt Drive कहा जाता है। और हमेशा ड्राइविंग शाफ़्ट और ड्रिवन शाफ़्ट दोनो समान दिशा में घूमते है। इसके अलावा, Open belt drive में wrap angle या angle of lap हमेशा 180 ° से कम ही होता है, इस ड्राइव में पॉवर ट्रांसमिट करने की क्षमता भी कम होती है। 

जब बेल्ट एक pulley के ऊपर से और दूसरी pulley के नीचे से होकर गुजरता है तब उसे Crossed Belt drive कहा जाता है। और इस तरह बेल्ट खुद एक पुली से दूसरी पुली को पार करती है। यहां ड्राइविंग शाफ्ट, ड्रिवन शाफ़्ट के विपरीत दिशा ( Opposite Direction) में घूमती है। इस drive का Angle of lap भी बड़ा होता है। जिसके कारण ज्यादा पॉवर का transmission होता है। Open belt drive और Crossed belt drive के बीच का अंतर (Difference) नीचे टेबल फॉर्मेट में दिया गया है।




Open belt drive in hindi, open belt drive Kiya he
Open Belt drive in Hindi
                             





Crossed belt drive in hindi
Crossed belt drive in hindi
                           






Open Belt drive और Crossed belt drive के बीच क्या अंतर है।



Open Belt Drive Crossed Belt drive

ओपन बेल्ट ड्राइव में Driver pulley और Driven Pulley दोनों की रोटेशन एक ही दिशा (Direction) में होती है


क्रॉस बेल्ट ड्राइव में Driver pulley 
 और Driven Pulley दोनों की रोटेशन एक दूसरे के विरुद्ध या  Opposite Direction में होती है

Open Belt Drive में एक बेल्ट होता है जो दो Pulley की Surface को Touch करके चलता है, लेकिन यह बेल्ट एक दूसरे को क्रॉस नहीं करते।

Crossed belt drive में एक बेल्ट होता है जो दो pulley की Surface को touch कर के चलता है, लेकिन इसमें बेल्ट एक दूसरे को क्रॉस करते हैं।

ओपन बेल्ट ड्राइव में अगर ड्राइवर और  ड्रिवन पुली का Diameter same होता है, और उनका Centre Distance भी Same होता है तो ओपन बेल्ट ड्राइव में Belt की Length crossed बेल्ट ड्राइव की तुलना में कम होती है।


क्रॉस बेल्ट ड्राइव में अगर ड्राइवर और ड्रिवन पुली का Diameter same होता है और Centre Distance भी same होता है तो open belt drive कि तुलना में बेल्ट की रिक्वायरमेंट  इस ड्राइव में ज्यादा होती है।

बेल्ट और पुली के बीच का Angle of Lap या Contact angle या Wrap angle छोटा होता है। और छोटी पुली में 180 डिग्री से कम होता है।

बेल्ट और पुली के बीच का Angle of Lap या Contact angle या Wrap angle बड़ा होता है। और छोटी पुली में 180 डिग्री से ज्यादा होता है। यानी बड़ा होता है।


अगर ड्राइवर और ड्रिवन शाफ़्ट Horizontal और अगर थोड़ी inclined हो तो वैसे में ओपन बेल्ट ड्राइव का इस्तेमाल किया जाता है।


अगर ड्राइवर शाफ़्ट और ड्रिवन शाफ़्ट दोनो एकदुसरे के Horizontal, Verticle या inclined  डायरेक्शन में हो तब क्रॉस बेल्ट ड्राइव का प्रयोग करना जरूरी हो जाता है।



ओपन बेल्ट ड्राइव में Frictional Grip क्रॉस बेल्ट ड्राइव की तुलना में कम होती है।




इस बेल्ट ड्राइव की Frictional Grip ओपन बेल्ट ड्राइव की Frictional Grip से ज्यादा होती है।

क्रॉस बेल्ट ड्राइव की तुलना में ओपन बेल्ट ड्राइव में पॉवर ट्रांसमिशन (Power transmission) कम होता है क्योंकि इस ड्राइव का Wrap angle या Angle of Lap छोटा होता है।

क्रॉस बेल्ट ड्राइव का Wrap angle or angle of lap ज्यादा होता है। इसलिए इस ड्राइव में पॉवर का ट्रांसमिशन (power transmission) ओपन बेल्ट ड्राइव की तुलना में ज्यादा होता है।


ओपन बेल्ट ड्राइव में बेल्ट ड्राइव के ऑपरेशन, हर एक रोटेशन में बेल्ट same प्लेन में होता है।



क्रॉस बेल्ट ड्राइव में बेल्ट ड्राइव का ऑपरेशन, हर एक रोटेशन में बेल्ट दो Different plane  में bend होता है।

Open belt drive में बेल्ट और पुली के बीच का Surface contact क्रॉस बेल्ट ड्राइव की तुलना में कम होता है।




क्रॉस बेल्ट ड्राइव में बेल्ट और पुली के बीच का Surface contact ओपन बेल्ट ड्राइव के Surface contact से ज्यादा होता है।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ