Ticker

6/recent/ticker-posts

सभी हवाई जहाजों का रंग आखिर सफ़ेद ही क्यों होता हे। why airplanes colour is white in hindi

दोस्तों आज फिरसे हम एक और हवाई जहाज के unknown Facts को आपके सामने रखेंगे। तो चलिए शुरुआत करते है ।दोस्तों आप सबने हवाई जहाज तो जरूर देखा होगा अगर असल ज़िन्दगी में नहीं तो टीवी या फिल्मो में तो देखा ही होगी। क्या आपने कभी ये सोचा हे की Aeroplane का कलर सफ़ेद ही क्यों रखा जाता हे। क्यों किसी और कलर से उसे पेंट नहीं किया जाता ? दोस्तों प्लेन के सफ़ेद रंग रखने के पीछे कही सारे ऐसे कारण है, पर आज में आपको इसके पीछे की 5 मुख्य वजह बताऊंगा जिसमे वैज्ञानिक और इकोनॉमिकल वजहें भी शामिल हे। तो चलिए शुरू करते हे। 

हवाई जहाज का रंग सफेद क्यू होता है
हावाई जहाज का रंग सफेद क्यों होता है ?



1] सफ़ेद रंग रखने की पहेली सबसे बड़ी वजह हे प्लेन को गर्म  होने से बचाना :-

प्लेन को आपने हमेशा खुले मैदान में खड़े रहेते देखा होगा। यानी पुरे दिन प्लेन सिर्फ ओर सिर्फ आपको धुप में ही दिखाई पड़ेगा। इतना ही नहीं जब हवाई जहाज उड़ान भर के खुले आसमान में उड़ता हे तब उसे कड़ी धुप का सामना करना ही पड़ता हे। अगर में वैज्ञानिक तोर पे आपको बताऊ तो जब प्लेन आसमान में होता हे तब सूर्य के सीधे किरण उसपर पड़ते हे। यानी इससे ज्यादा गर्मी पैदा होती हे। यानी की हवाई जहाज़ पर गर्मी का असर होता हे। लेकिन सफ़ेद कलर ऐसा कलर हे जो सूर्य की किरणों को सबसे ज्यादा रिफ्लेक्ट करता हे। यानी की सफ़ेद रंग की रिफ्लेक्शन रेट लगभग 90 % होती हे जोकि बाकि रंगो की तुलना में सबसे ज्यादा होती है। रंग की रिफ्लेक्शन की इस वजह से प्लेन को सफेद रंग में रंगा जाता है। ताकि प्लेन को गर्म होने से बचाया जा सके। 
    

2] प्लेन के वजन को कम करने के लिए इस्तेमाल किया जाता हे सफ़ेद रंग। 

दोस्तों आप ये जानकर हैरान हो जाओ गे की अलग अलग रंगो के वजन (Weight) भी अलग अलग होते हे। जिसमे सफ़ेद रंग का वजन बाकि रंगो के वजन की तुलना में सबसे कम होता हे, और इसी लिए प्लेन के वजन को कम करने के लिए सफ़ेद (white) रंग का इस्तेमाल किया जाता हे।  


3] प्लेन के निरिक्षण के लिए किया जाता हे सफ़ेद रंग का इस्तेमाल ।
 
अगर प्लेन पे सफ़ेद रंग किया हे तो उसकी सरफेस पे हुए क्रैक्स या डेंट आसानी से ढूंढे जा सकते हे। और मैंटेनस भी क्रैक्स ढूंढ कर आसानी से किया जा सकता हे। अगर हवाई जहाज किसी और कलर की हो तो ये डेंट और क्रैक्स को ढूंढ़ने में भी बोहोत दिकत्ते होती हे। तो प्लेन का सफ़ेद रंग रखने के पीछे ये भी एक बोहोत बड़ी वजह मानी जाती है। 

            
4]  सफ़ेद रंग की दृश्यता (visibility) ज्यादा होती हे 

दूसरे रंगो की तुलना में सफ़ेद कलर (white colour) की दृश्यता ज्यादा होती हे। हलाकि सफ़ेद रंग के आलावा और भी बोहोत से रंग हे जिनकी विजिबिलिटी ज्यादा हे लेकिन ना केवल विजिबिलिटी के रूप में रखा गया हे बल्कि बोहोत से ऐसे कारण भी है जिसकी वजह से एयरप्लेन सफ़ेद रंग का ही रखा जाता हे। प्लेन पर सफ़ेद रंग लगाने से Airline के नाम आपको आसानी से दिख जाते हे। 

अगर उदाहरण के तोर पर कहु तो इंडिया में कुल 39 Airlines हे, और सभी एयरलाइन्स का खुदका अपना नाम होता हे, और वो नाम आपको प्लेन के ऊपर लिखा मिलता हे। जैसे की IndiGo, Air India, Spice Jet, Vistara, GoAir etc. और सफ़ेद रंग में ये सारे नाम बेहद आकर्षित लगते हे। 


5] सफ़ेद रंग की रिसेल वैल्यू ज्यादा होती हे।  

दोस्तों सूत्रों के मुताबित ये माना जा रहा हे की सफ़ेद रंग वाली हवाई जहाज की रीसेल वैल्यू ज्यादा होती हे। इसके पीछे भी कही ऐसे कारण छिपे हुए हे जैसे की प्लेन का अक्सर धुप में रहना। अगर प्लेन को किसी और रंग से पेंट किया जाए तो वो धुप में दूसरा रंग जल्दी ख़राब हो जाता हे क्यूकी सफ़ेद रंग की तुलना में दूसरे रंगो का रिफ्लेक्शन रेट ज्यादा होता हे, और तो और सफ़ेद कलर लगाने से प्लेन को बार बार पेंट भी नहीं करना पड़ता, और अगर किसी भी नजरिये से अगर देखा जाए तो सफ़ेद रंग ही प्लेन के लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद साबित माना जाता हे। 
        

यह भी पढ़े :-





एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ