Ticker

6/recent/ticker-posts

What is Tight Side & Slack Side of Belt Drive in Hindi।

बेल्ट की Tight side और Slack side किसे कहा जाता है। और बेल्ट की Slack Side हमेशा ऊपर की तरफ ही क्यों होती है।

बेल्ट के Parts में जहां Belt का tension कम होता है उसे belt की Slack Side ओर जहां Belt का tension ज्यादा होता है उसे बेल्ट की Tight Side कहा जाता है। 

बेल्ट ड्राइव में बेल्ट की Tight Side और Slack Side दोनों Driver pulley की Rotation पर आधार करता है। जब Driver pulley की रोटेशन Clockwise direction में होती है तब बेल्ट ड्राइव में बेल्ट के नीचे की Side बेल्ट की Tight side कहलाती है और ऊपर की साइड बेल्ट की Slack Side होती है।

और जब Driver pulley की रोटेशन Anti-Clockwise direction में होती है तब बेल्ट ड्राइव की ऊपर की side बेल्ट की Tight Side होती है। और नीचे की Side बेल्ट की Slack Side कहलाती है। 


बेल्ट ड्राइव में बेल्ट की Slack Side हमेशा ऊपर की तरफ ही क्यों होती है। In Belt drive, Why Slack Side is on upper Side ( हिंदी में )

जैसा कि आप figure-1 में देख सकते है कि जब ड्राइवर पुली anti-clockwise डायरेक्शन में घूमती है तब ड्राइवर पुली, ऊपर वाले belt को अपनी तरफ खींचती है इससे ऊपर वाले बेल्ट में Tension बढ़ जाता है,यानी कि बेल्ट ड्राइव की उपर वाली साइड Tight Side  कहलाती है। और Belt drive मैं नीचे वाले बेल्ट को Slack side कहा जाता है, क्युकी नीचे वाला बेल्ट Loose होता है।

open belt drive , tight side of belt upper side
Figure-1. Anticlockwise Rotation 


और अगर बेल्ट ड्राइव में बेल्ट की Slack Side नीचे की तरफ रखी जाए तो Gravitational Force के कारण बेल्ट ज्यादा नीचे की ओर जाता है। इससे Belt और Pulley के बीच का Contact Of area या Angle of Lap कम हो जाता है। और बेल्ट और पुली के बीच का Surface Contact भी घट जाता है।  और इससे बेल्ट और पुली के बीच का Frictional grip भी कम हो जाती है। और उससे torque भी कम मिलता है। यानी कि इस सबके कारण Power Transmission में भी कटौती देखने को मिलती है।

जैसा कि आप figure-2 में देख सकते है कि अगर ड्राइवर पुली anti clockwise direction में घूमने की बजाय clockwise Direction में घूमेगी तब बेल्ट की ऊपर की तरफ Slack Side रहेगी और  नीचे की तरफ बेल्ट की Tight Side होगी

clockwise direction of belt, pulley, slack side & tight side of belt
Figure-2. Clockwise Direction


जैसा कि आप ऊपर figure में देख सकते हैं कि ग्रेविटेशनल फोर्स के कारण Slack Side वाला बेल्ट नीचे की तरफ आएगा इससे ऊपर वाले बेल्ट और पुली के बीज का सरफेस कांटेक्ट बढ़ेगा और इसके साथ साथ कांटेक्ट ऑफ एरिया भी बढ़ेगा, जिसके कारण Frictional Grip भी बढ़ेगी और उससे पावर का ट्रांसमिशन भी ज्यादा होगा, इसलिए बेल्ट ड्राइव में Slack side को ऊपर की तरह ही रखा जाता है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ